चीन ने मसूद अजहर पर पाबंदी लगवाने के लिए अमेरिका के प्रयासों की आलोचना की

चीन का कहना है कि मसूद अजहर पर पाबंदी लगवाने लिए अमेरिका जो कुछ भी कर रहा है, उससे दक्षिण एशिया की शांति को खतरा है

चीन ने पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के लिए अमेरिकी प्रयासों की निंदा की है. उसने कहा है कि अमेरिका द्वारा मसूद को प्रतिबंधित करावने के लिए सभी उपलब्ध संसाधनों का इस्तेमाल करने की धमकी देना, इस मुद्दे को और पेचीदा बना देगा. चीन के मुताबिक अमेरिका का यह फैसला दक्षिण एशिया में शांति एवं स्थिरता के लिए अनुकूल नहीं है.




पीटीआई के मुताबिक बुधवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि चीन इस मुद्दे का उचित हल निकालने के लिए रचनात्मक और तार्किक रुख अपना रहा है. लेकिन अमेरिका की कार्रवाई उसकी कोशिशों पर पानी फेर देगी. गेंग शुआंग का यह भी कहना था कि अमेरिका अब इस मामले में जो कुछ कर रहा है वह संयुक्त राष्ट्र नियमों और परंपरा के अनुरूप नहीं है और यह एक गलत उदाहरण पेश कर रहा है.
loading...


पुलवामा हमले के बाद बीते महीने मसूद अजहर को ‘1267 अल कायदा प्रतिबंध कमेटी’ के तहत सूचीबद्ध करने के एक प्रस्ताव पर चीन ने अड़ंगा लगा दिया था. इसके बाद 27 मार्च को अमेरिका ने मसूद को काली सूची में डालने और उसकी यात्रा पर पाबंदी लगाने के मकसद से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक मसौदा पत्र वितरित किया है. अमेरिका की इस कोशिश को लेकर वहां के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा था कि अमेरिका अजहर को काली सूची में डालने के लिए सभी उपलब्ध संसाधनों का इस्तेमाल करेगा.

Post a Comment

0 Comments