कांग्रेस गुंडों की पार्टी, ये कहकर छोड़ दिया प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस, शामिल हुई भगवा ब्रिगेड में

लोकसभा चुनाव 2019 में पीएम मोदी तथा बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल तमाम प्रयास कर रहे हैं. राहुल गांधी अपने अनुसार हर वो हथकंडा अपना रहे हैं, जिससे बीजेपी को रोका जा सके.

यही कारण था कि वह अपनी बहन प्रियंका वाड्रा को राजनीति में लाये तथा उनको कांग्रेस महसचिव बनाया. इसके बाद से प्रियंका वाड्रा लगातार कैंपेनिंग कर रही हैं तथा कांग्रेस पार्टी को वोट करने के लिए मतदाताओं से अपील कर रही हैं.




एकतरफ प्रियंका वाड्रा कांग्रेस के प्रचार में जुटी हुईं हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस की एक और प्रियंका ने कांग्रेस के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है तथा कहा है कांग्रेस में गुंडों का बोलबाला है. जी हाँ..

कांग्रेस की तेजतर्रार प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस हाईकमान पर करारा हमला बोलते हुए कहा है कि पार्टी में उन गुंडों को तवज्जो दी जा रही है, जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं. प्रियंका ने ट्विटर के माध्यम से पार्टी पर ये आरोप लगाया है.
loading...


प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्विटर पर लिखा कि, ‘यह देखना बहुत दुखद है कि कुछ खराब आचरण करनेवाले लोगों को कांग्रेस में अपना खून-पसीना पार्टी को देनेवाले लोगों के स्थान पर तरजीह दी जा रही है.

मैंने पहले भी अपनी पार्टी के लिए लोगों की ओर से फेंके पत्थर और अपशब्दों की मार सही हैं, लेकिन पार्टी के अंदर मेरे साथ दुर्व्यवहार करनेवालों को, मुझे धमकाने वालों को बिना किसी कार्रवाई के ऐसे ही छोड़ा जा रहा है, यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है.’




प्रियंका ने यह बात एक पत्रकार को रिट्वीट करते हुए कही, जिसने कांग्रेस के नोटिस की एक तस्वीर संलग्न की थी. जिसमें कहा गया है कि प्रियंका चतुर्वेदी द्वारा हाल ही में पार्टी के कुछ नेताओं पर उनके साथ दुर्व्यवहार करने की शिकायत की थी.

चतुर्वेदी की शिकायत के बाद पार्टी नेताओं को निलंबित कर दिया गया था. पत्र में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश पश्चिम के कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के हस्तक्षेप के बाद उन्हें फिर से बहाल करने का फैसला किया है. आपसे अपेक्षा की जाती है कि, निकट भविष्य में आप कुछ ऐसा नहीं करेंगे जिससे पार्टी के छवि को नुकसान पहुंचे.
loading...


मामला बीते साल सितंबर के आसपास का जब मथुरा में राफेल मुद्दे को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. जहां उनके साथ पार्टी के ही कुछ सदस्यों ने बदसलूकी की थी. हालांकि, उनकी इस शिकायत के बाद उन सदस्यों को पार्टी से निकाल दिया गया था, लेकिन फिर से उन्हें पार्टी में शामिल करने का पत्र जारी किया गया.

इस सभी को ज्योतिरादित्य सिंधिया की सिफारिश के बाद इन कार्यकर्ताओं को बहाल किया गया है. पार्टी के इस फैसले के बाद प्रियंका भड़क उठी तथा आरोप लगाया कि पार्टी में उन गुंडों को तवज्जो दी जा रही है, जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं.

Post a Comment

0 Comments