पुलवामा बलिदानी, मुर्तजा और 110 करोड़ की मदद, अब खुलने लगी कलई, जबरजस्त प्रोपगंडा

भारत की सेक्युलर मीडिया किस प्रकार का एजेंडा, इमोशनल अत्याचार चलाकर आपको गुमराह करती है, मुद्दों से देश का ध्यान हटती है ये आप इस उदाहरण से समझ सकते है

आपको याद होगा कुछ दिनों से एक खबर तेजी से फैलाई जा रही थी, इसे NDTV का रविश कुमार सहित सभी छोटे बड़े सेक्युलर पत्रकार फैला रहे थे, सेक्युलर पोर्टल इसे सोशल मीडिया पर फैला रहे थे




खबर थी की मुर्तजा नाम के एक शख्स ने पुलवामा बलिदानियों को 110 करोड़ की मदद कर दी, बाद में इस खबर को थोडा और ट्विस्ट किया गया और कहा गया की अभी मदद की नहीं है सिर्फ पेशकश की है

सबसे पहले आपको साफ़ कर दें की मुर्तजा नाम के इस शख्स ने अभी 1 पैसे की कोई मदद बलिदानियों के परिवारों को नहीं की, सिर्फ पेशकश की




अब भैया मदद करनी है आर्थिक तो पेशकश क्या करना, भारत के वीर वेबसाइट है सरकार की, उसपर जाकर डोनेट कर दो, चेक भेज दो, कई तरीके है, ये पेशकश का क्या नाटक है

असल में ये सबकुछ एक पूरी नौटंकी के अलावा, प्रोपगंडा के अलावा कुछ नहीं है
loading...


मुर्तजा अली नाम के शख्स का कुछ ही दिनों पहले 1 करोड़ 10 लाख रुपए का एक चेक बाउंस हुआ है, इस शख्स ने पुलवामा के बलिदानियों के नाम पर 110 करोड़ की पेशकश के अलावा और भी कई पेशकश की है जिसमे से कोटा में एक अस्पताल बनवाने के लिए 250 करोड़ देने की पेशकश, और इसके अलावा बेरोजगारों को 151 ट्रक देने की पेशकश, ये शख्स सिर्फ पेशकश पर पेशकश ही करता है

जब इस शख्स ने पुलवामा बलिदानियों को लेकर 110 करोड़ की पेशकश की तो फिर ये जल्दी से लोगो की नजर में भी आ गया और जब इसकी जानकारियां सामने आने लगी तो फर्जी मीडिया का पूरा प्रोपगंडा सामने आ गया




मुर्तजा अली ने 3 महीने पहले नन्ता में एक स्कुल बनाने के लिए 1 करोड़ 10 लाख का चेक दिया था जो की बाउंस हो गया

इसने 23 दिसंबर को 151 गरीबो को ट्रक बांटने का ऐलान किया था, पहले जनवरी में ट्रक देना था, फिर फ़रवरी बोलने लगा और अब मार्च आ गया, और इसके नाम पर ये चंदा भी जमा करने लगा, इसने एक व्यापारी से 9 लाख 50 हज़ार भी लिए है
loading...


मुर्तजा अली ने मुंबई में गरीबो के लिए घर बनवाने का ऐलान किया था, और इसने कहा था की ये 53 करोड़ देगा, 1 पैसा अबतक नहीं दिया

मुर्तजा अली ने एक व्यापारी से 18 लाख 50 हज़ार रुपए उधार लिए है, उसका केस भी इसपर है, इसका 18 लाख 50 हज़ार का वापसी चेक भी बाउंस हो चूका है




सिर्फ और सिर्फ प्रोपगंडा, और NDTV का रविश कुमार इसे NDTV के प्राइम टाइम शो में बुलाकर इसकी तारीफ भी कर चूका है, भारत की सेक्युलर मीडिया देश की जनता को किस प्रकार मुर्ख बनाती है ये मात्र एक उदाहरण है

अब जो सेक्युलर मीडिया वाले इस मुर्तजा को हीरो बता रहे थे, उन्हें दर्शको को जरुर बताना चाहिए की आखिर इसने पुलवामा के बलिदानियों के लिए अबतक 1 भी पैसे की आर्थिक मदद क्यों नहीं की, ये सरकार को चेक कब देगा ? और वो भी बाउंस होगा या नहीं

Post a Comment

0 Comments