पूर्व ISRO अध्यक्ष ने कहा – हमारे पास एंटी सेटेलाइट बनाने की क्षमता 2007 में ही थी, पर कांग्रेस सरकार ने काम नहीं करने दिया

इस देश को कांग्रेस की सरकार ने 2004-14 के बीच शासन करके कितना पीछे धकेला है ये अब 2 बड़े वैज्ञानिको के खुलासे के बाद सामने आ रहा है

आज 27 मार्च 2019 को भारत ने एंटी सेटेलाइट मिसाइल ताकत को हांसिल कर लिया, भारत ने आज सफल परिक्षण किया और भारत दुनिया का चौथा ऐसा देश बन गया जिसके पास एंटी सेटेलाइट मिसाइल सिस्टम है




पर ये काम काफी पहले ही हो सकता था, और इस काम को सोनिया गाँधी की कांग्रेस सरकार ने नहीं होने दिया, और इस बात को आज देश के 2 बड़े वैज्ञानिको ने कहा

पहले तत्कालीन DRDO प्रमुख वीके सारस्वत ने कहा की – हमने UPA सरकार के सामने भी एंटी सेटेलाइट मिसाइल प्रोजेक्ट का प्रेजेंटेशन दिया था पर UPA सरकार ने न पैसा दिया और न मज़बूरी, वरना भारत 2014 के आसपास ही एंटी सेटेलाइट से लैस शक्ति बन जाता
loading...


वीके सारस्वत के बाद अब देश के एक और टॉप वैज्ञानिक और पूर्व ISRO प्रमुख माधवन नायर ने भी कांग्रेस को एक्सपोज किया



माधवन नायर ने आज कहा की – हमारे पास 2007 में ही एंटी सेटेलाइट मिसाइल प्रोजेक्ट को शुरू करने की क्षमता आ गयी थी, पर उस समय की सरकार (सोनिया) ने काम नहीं करने दिया




आज पूर्व DRDO प्रमुख और पूर्व ISRO प्रमुख ने कांग्रेस को पूरी तरह एक्सपोज कर दिया है, कांग्रेस ने भारत को कितना पीछे किया है इसका अंदाजा आज लग गया

कांग्रेस की सरकार ने देश को एंटी सेटेलाइट मिसाइल सिस्टम से लैस देश बनने से रोका, सेना को न नए रायफल दिए और न ही लड़ाकू जहाज, भारत को कमजोर किया, और दूसरी तरफ चीन ताकतवर से ताकतवर होता गया

Post a Comment

0 Comments