वायनाड में मोदी के खिलाफ नहीं हमारे खिलाफ लड़ने आ रहा, हम भी धुल चटा देंगे : प्रकाश करात

पुरानी कहावत है की जब गीदड़ की मौत आती है तब वो शहर की तरफ भागता है, और एक और कहावत है की धोबी का कुत्ता न घर का और न ही घाट का

ये दोनों ही कहावतें राहुल गाँधी पर आज वर्तमान में इस्तेमाल की जा सकती है




राहुल गाँधी स्मृति ईरानी के हाथों अमेठी में हारने को लेकर बेचैन थे, और कांग्रेस उनके लिए कर्णाटक में सेफ सीट खोज रही थी, फिर आज 31 मार्च को केरल की वायनाड सीट पर आधिकारिक ऐलान भी हो गया की राहुल गाँधी यहाँ से भी लड़ेंगे

राहुल गाँधी बीजेपी और मोदी को हराना चाहते है, और वो वायनाड सीट पर भागे है जहाँ पर बीजेपी का कुछ खास है भी नहीं, वायनाड सीट पर तो लेफ्ट का उम्मीदवार उनके सामने मुख्य होगा

और लेफ्ट दलों ने भी राहुल गाँधी के इस कारनामे के बाद अपने सुर बुलंद कर लिए है
loading...


सीपीएम के बड़े नेता प्रकाश करात ने आज कहा की – केरल के वायनाड सीट पर राहुल गाँधी बीजेपी को नहीं बल्कि हमे चुनौती देने आ रहे है, और हम भी राहुल गाँधी को धुल चटा देंगे

प्रकाश करात ने कहा की – कांग्रेस ने राहुल गाँधी को वायनाड में उतारकर घोषित कर दिया की वो बीजेपी नहीं बल्कि यहाँ पर लेफ्ट पार्टी से लड़ना चाहती है

प्रकाश करात ने ऐलान किया की वो भी पीछे नहीं हटेंगे और वायनाड सीट पर मजबूत उम्मीदवार उतारकर राहुल गाँधी को हराएंगे




अब राहुल गाँधी की स्तिथि बिलकुल वही हो गयी है जिन कहावतों का जिक्र हमने पहले किया था, अमेठी से भागे वायनाड में गए, अमेठी में हार का डर है, और दूसरी तरफ अब वायनाड में भी लेफ्ट उनको धुल चटाने की बात करने लगी, न वो रहे घर के और न ही घाट के, कांग्रेस के पापों का घड़ा कदाचित भर चूका है और 2019 का चुनाव देश में एक बड़ा बदलाव कर सकता है

Post a Comment

0 Comments