इंदिरा ने पाक के 93000 सैनिक छोड़े, पाक के पास थे भारत के 54, क्या हुआ उनका आजतक किसी को नहीं पता

1971 के युद्ध में भारत की सेना ने बलिदान देकर पाकिस्तान के 2 टुकड़े कर दिए, सेना ने कई सैनिको का बलिदान दिया, और एक वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया

पाकिस्तान के 93 हज़ार सैनिको को भारतीय सेना ने बंधक बनाया, डर के मारे पाकिस्तान के 93 हज़ार सैनिको ने भारतीय सेना के सामने सरेंडर किया था




भारत के कब्जे में पाकिस्तान के 93 हज़ार फौजी थे, पर पकिस्तान के कब्जे में भी भारत के 54 फौजी थे, उनकी लिस्ट को अभी आप नीचे देखेंगे भी

इंदिरा ने 93 हज़ार पाकिस्तानी सैनिको को मुफ्त में लौटा दिया, इन 93 हज़ार पाकिस्तानियों को हमारी सेना ने आसानी से नहीं बल्कि अपना बलिदान देकर बंधक बनाया था

भारत उस समय पाकिस्तान से POK भी वापस ले सकता था, ये सभी फौजी अधिकतर पाकिस्तानी पंजाब के थे, और पाकिस्तान इनको ऐसे ही छोड़ नहीं सकता था
loading...


इंदिरा ने 93 हज़ार सैनिक मुफ्त में पाकिस्तान को सौंप दिए, पर पाकिस्तान के कब्जे में भारत के 54 सैनिको को नहीं छुडवा सकी

आजतक ये नहीं पता चला की हमारे उन 54 सैनिको का क्या हुआ जो 1971 में पाकिस्तान के युद्धबंदी बन गए थे, ये है उनकी लिस्ट




1 अभिनन्दन नहीं बल्कि कुल 54 अभिनन्दन, इंदिरा ने मुफ्त में उनके 93 हज़ार सैनिक छोड़ दिए, पर हमारे 54 सैनिक आजतक नहीं आये, जाहिर सी बात है ये सैनिक अब इस दुनिया में नहीं ही होंगे





इन कांग्रेस वालो से क्या कोई 1 सवाल भी पूछेगा, 93 पाकिस्तानी हज़ार सैनिको को छोड़ने वालो से आजतक किसी मीडिया ने भारत के 54 सैनिको को लेकर 1 भी सवाल नहीं पुछा है

Post a Comment

0 Comments