हमने तो जान के राफेल डील को लेट किया, इसी में देश का फायदा था : ऐके अंटोनी, पूर्व कांग्रेसी रक्षामंत्री

कांग्रेस नेता, वैटिकन तथा सोनिया गाँधी के करीबी माने जाने वाले ऐके अंटोनी ने राफेल डील को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिसे कई लोग समझ नहीं सके है



असल में पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक किया, और बहुत कुछ हुआ इसी बीच पहले सोशल मीडिया पर और फिर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक मुद्दा उठाया




मुद्दा राफेल डील को लटकाने का, राफेल डील को लेट करने का, 2007 में जो डील होनी थी, 2014 तक उसपर पूरी फाइल भी नहीं बन सकी

सरकार कांग्रेस की थी, राफेल आज भारत के पास होता तो भारतीय सेना और ज्यादा मजबूत होती, और नरेंद्र मोदी ने भी इसी मुद्दे को एक रैली में उठाया

जब पहली बार फ़्रांस के साथ राफेल डील पर बात चल रही थी तब देश में कांग्रेस की सरकार थी और रक्षामंत्री थे ऐके अंटोनी
loading...


अब ऐके अंटोनी ने राफेल डील को लेट किये जाने पर अपनी सफाई देते हुए ये कहा की – हम तो देश के भले के लिए राफेल डील को लेट कर रहे थे, इसी में देश का भला था, इसलिए हमने देश का भला किया और राफेल डील को लेट किया


अंटोनी का ये बयान कांग्रेस के करीबी बेहद सेक्युलर टाइम्स ऑफ़ इंडिया में भी छापा गया है




ऐके अंटोनी ने ये भी कहा की हम जो डील कर रहे थे वो नरेंद्र मोदी के सरकार वाली डील से बहुत अच्छी थी, मोदी सरकार ने तो सब बर्बाद कर दिया

वैसे ऐके अंटोनी ने ये नहीं बताया की राफेल डील को लेट करने से देश का कौन सा भला हुआ, डील को लटकाने से देश को कौन सा फायदा हुआ
loading...


वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें की जब ऐके अंटोनी रक्षामंत्री थे, इनसे एक पत्रकार ने सवाल किया था की हमारे रक्षा सौदे धीरे क्यों हो रहे है, सेना के लिए हथियार क्यों नहीं ख़रीदे जा रहे है, तब झल्लाते हुए तत्कालीन रक्षामंत्री ऐके अंटोनी ने कहा था की – हथियार खरीदने के लिए पैसा नहीं है, जो है उसी से काम चलेगा

Post a Comment

0 Comments