भारत (बिहार) की बेटी मोना दास बनी वाशिंगटन की सांसद, श्रीमद्भगवद्गीता गीता हाथ में लेकर ली शपथ

अमेरिका में अब 2 सांसद है जो की हिन्दू है और श्रीमद्भगवद्गीता गीता को हाथ में लेकर उन्होंने शपथ ली है, पहली है तुलसी गब्बार्ड जो की अमेरिकी मूल की ही हैं

और दूसरी हैं मोना दास जो की भारतीय मूल की हैं, और उनका भारत के राज्य बिहार से सम्बन्ध है, मुंगेर जिले से सम्बन्ध रखने वाली मोना दास ने अमेरिका में भारतीय संस्कृति का मान बढाया है

मोना दास अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन की सीनेट में चुनी गयी है, वो वाशिंगटन की संसद की सांसद बनी है, और उन्होंने सांसद पद की शपथ भी ली है और विशेष बात ये है की उन्होंने श्रीमद्भगवद्गीता गीता को हाथ में लेकर सांसद पद की शपथ ली है

मोना दास के दादा बिहार में सिरिल सर्जन थे, और वो भागलपुर मेडिकल कॉलेज में काम करते थे, इसके अलावा उन्होंने दरभंगा में भी काम किया था

loading...
मोना दास ने पहली बार ही चुनाव लड़ा था, और उन्हें पहली बार में ही सफलता मिल गयी और उन्होंने गीता को हाथ में लेकर अपनी ड्यूटी को करने की शपथ ली

उन्होंने 2 बार के सांसद जोई फैन को हराया, वो अब सांसद के रूप में काम करेंगी, वो 47 साल की है और वो अमेरिका तभी चली गयी थी जब वो मात्र 8 महीने की थी


Loading...
उनके पिता का नाम सुबोध दास है जो की एक इंजिनियर है और संत लुइस में रहते है, मोना दास भले ही अमेरिका में बड़ी हुई पर वो हमेशा ही भारतीय संस्कृति और सनातन सभ्यता से जुडी रही और उन्होंने सांसद बनने के बाद गीता को सम्मान दिया

मोना दास ने अपनी जीत के बाद ये भी कहा की उन्हें भारतीय मूल का होने पर बहुत गर्व है, और वो अपने पूर्वजो के स्थान मुंगेर, बिहार में भी कभी न कभी जरुर जाएँगी और पूरा भारत भी घूमेंगी

Post a Comment

0 Comments