मोमता बनर्जी ने 10 साल तक किया प्रताड़ित, IPS ने दी जान, हर तरफ सन्नाटा






आप कल्पना कीजिये की उत्तर प्रदेश में एक छोटा मोटा सरकारी कर्मचारी भी आत्महत्या कर ले, और अपने सुसाइड नोट में लिख दे की





योगी आदित्यनाथ ने मुझे प्रताड़ित किया इसलिए दे रहा हूँ अपनी जान, आप बस कल्पना कीजिये की इस मामले पर देश में कितना शोर मचाया जायेगा

बंगाल में एक रिटायर्ड आईपीएस अफसर ने खुद के नसों को काट लिया, आप अंदाजा लगाइए की वो किस स्तिथि में होगा जिसके अपनी नसों को काट लिया

रिटायर्ड आईपीएस अफसर गौरव दत्त का शव मिला है, उन्होंने अपने हाथों की नसों को काटकर जान दे दी है

गौरव दत्त ने खुद ही रिटायरमेंट ली थी, वो प्रताड़ना से तंग आकर रिटायर हो गए, उसके बाद भी उनको प्रताड़ित किया जाता रहा


गौरव दत्त के पिता का नाम गोपाल दत्त है जो की खुद एक सरकारी अधिकारी थे, गौरव दत्त का सुसाइड नोट भी मिला है, जिन्होंने साफ़ तौर पर लिखा है की मोमता बनर्जी मेरी मौत की जिम्मेदार है

गौरव दत्त ने लिखा की – मोमता बनर्जी ने 10 सालों तक मुझे प्रताड़ित किया है, और मेरे खिलाफ झूठे केस लिखकर परेशान किया जाता रहा है, मैंने प्रताड़ना से तंग आकर नौकरी छोड़ी थी

गौरव दत्त ने ये भी लिखा की मैंने कभी रिश्वत नहीं ली, सिर्फ अपनी तनख्वाह से गुजारा किया, पर मोमता ने प्रताड़ित करने के लिए उनके तनख्वाह के पैसे को भी रुकवाया, उन्होंने मोमता के इशारों पर गलत काम नहीं किये इसलिए उनको प्रताड़ित किया गया

और प्रताड़ना से उन्होंने अपने हाथों की नसों को काट लिया और उनकी मृत्यु हो गयी, एक आईपीएस अफसर के साथ बंगाल में इस तरह का काम किया गया, उसने पत्र में मोमता बनर्जी का नाम लिखा, पर फिर भी देश में इस मामले पर पूर्ण सन्नाटा है
loading...

Post a Comment

0 Comments