अटल ने तो भारतीयों की जान बचने के लिए मसूद अजहर को छोड़ा था, इंदिरा ने 95 हज़ार पाकिस्तानियों को किसलिए छोड़ा था ?







पुलवामा हमले के बाद देश भर के सेक्युलर एक बार फिर मसूद अजहर के मामले पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का नाम लेकर अपना एजेंडा चला रहे है

इनका कहना है की अगर अटल ने मसूद अजहर को न छोड़ा होता तो आज पुलवामा हमला न हुआ होता, अटल बिहारी वाजपेयी को भी कुछ सेक्युलर आतंकवाद का जिम्मेदार बताने में लगे है

इसके साथ साथ पाकिस्तान और आतंकियों को क्लीन चिट देने वाले, अटल के नाम पर बीजेपी और बीजेपी के नाम पर हिन्दुओ और भारत के खिलाफ ही जहर उगल रहे है





अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने मसूद अजहर को छोड़ा था ये एक सच है, पर क्या इसका फैसला अकेले अटल बिहारी वाजपेयी या बीजेपी ने लिया था ?

इस देश में मसूद अजहर को छोड़ने के मामले पर सर्वदलीय मीटिंग बुलाई गयी थी, और मसूद अजहर को छोड़ने के लिए कांग्रेस, लेफ्ट और हर दल ने हामी भरी थी

सोनिया गाँधी ने भी हामी भरी थी, और अटल सरकार ने मसूद अजहर को छोड़ा था, और वो भी सिर्फ भारतीयों की जान बचाने के लिए
loading...



कंधार प्लेन हाईजैक में 200 के आसपास भारतीयों की जान खतरे में थी, मसूद अजहर को सरकार ने भारतीयों की जान को बचाने के लिए छोड़ा था

पर आज भी अटल बिहारी वाजपेयी पर इसे लेकर निशाना साधा जाता था, जबकि इस फैसले में सोनिया गाँधी भी शामिल थी

पर एक दूसरा और बड़ा मसला है जिसपर आज भी चुप्पी साध के रखा जाता है, और वो मसला है पाकिस्तान के 95 हज़ार सैनिको का

1971 में पाकिस्तानी सैनिको ने आज के बांग्लादेश में अत्याचार मचाया हुआ था, भारतीय सेना ने पाकिस्तानियों को धुल चटा दिया और 95 हज़ार के आपस पाकिस्तानी सैनिको को बंदी बना लिया, ये सब हमारे जेलों में थे


पर इंदिरा गाँधी ने 1-1 पाकिस्तानी सैनिक को जो भारत के पास थे, उनको मुफ्त में पाकिस्तान को दे दिया, इन पाकिस्तानी सैनिको के बदले भारत POK वापस हांसिल कर सकता था, इसके अलावा भी बहुत सौदे किये जा सकते थे

95 हज़ार पाकिस्तानी सैनिको में ज्यादातर पाकिस्तानी पंजाब के थे, पाकिस्तान इनको छोड़ भी नहीं सकता था, और पाकिस्तान से भारत कई चीजों का सौदा कर सकता था

जो लोग अटल पर निशाना साध रहे है, अटल ने तो भारतीयों की जान बचाने के लिए मसूद अजहर को छोड़ा था, 1 मसूद अजहर को छोड़कर 200 भारतीयों को जिन्दा वापस लाये थे, इंदिरा ने 95 हज़ार सैनिको को किस चीज के बदले छोड़ा था ?
loading...


Post a Comment

0 Comments