"ज़वाब दो !!!" ("भारत" मज़बूत हो गया ?) :- डॉ प्रियंका "हम है ना"

💐🇮🇳💐जय भारत💐🇮🇳💐🙏🙏🙏साथियों🙏🙏🙏💐🇮🇳💐

""ब्रम्हाण्ड है अपना परिवार...
मानवीय गुण रहे...
ना रहे कोई विकार...
"सम्पूर्ण राष्ट्र" करे ;
"भारत" का नमन स्वीकार...।।""

"सम्पूर्ण राष्ट्रों" को...अंतःकरण की असीम गहराईयों से "भारत" नमन करता है...।
  💐🙏🇮🇳🌏🇮🇳🙏💐

          "ज़वाब दो !!!"
("भारत" मज़बूत हो गया ?)


--------------------------------------

क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


तुम इंसां हो;तुम ख़ुद को ही भूल गये...
भेड़ों की भेड़चाल में तुम निकल पड़े हो...
तुम सब भीड़ बढ़ाये बैठे हो...
एक दुसरे को ही निशाना बनाये बैठे हो...।।


क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


सूखी रोटी ही नहीं अटती...
"मेरे भारत" की थाली में...
तुम तो स्वयं को बेच;गिरवी रख के...
दलाली की काली दाल पकाये बैठे हो...।।


क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


साँसों की डोर टूट रही है...
दम घुट रहा है मेरे "भारत" का...
तुम तो "भारत" की उखड़ी साँसों पे...
ताण्डव का साज़ सजाये बैठे हो...।।


क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


हमसब दोषी हैं "बेज़ार भारत" के...
औरों को दोष देनें से बात ना बनेंगी...
तुम तो सिर्फ़ और सिर्फ़...
औरों पे तोहमत लगाये बैठे हो...।।


क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


महापुरुषों के संमार्गों पे...
चलनें की तेरी क़ूबत ही नहीं...
तुम तो महापुरुषों के नाम का...
ढ़िढोरा पीट-पीट के;तमाशा बनाये बैठे हो...।।


क्या "राष्ट्र" मज़बूत हो गया ???
ज़वाब दो !!!
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???


तुम "राष्ट्र" को बचा लो;"घर" को सम्भालो...
अपनें..."भारत" को बचा लो...
अपनें..."भारत" को बचा लो...
अपनें..."भारत" को बचा लो...


""भारत" पुकार लगा रहा है...
तुम सबसे गुहार लगा रहा है...
क्या तुम सब निष्ठुर हो ???
"भारत" के कंकाल को सुलगा के...
क्या रोटियाँ सेकनें के तुम आदी हो ???""


""ऐसा ना हो कि;
वक़्त्त हाथों से निकल जाये...
कुछ भी ना फिर;हाथ आये...
एक ही सवाल बारम्बार तू ख़ुद से कर...
क्या "भारत" मज़बूत हो गया ???""


""मज़बूत इरादों के साथ...अपनें "भारत" को मज़बूत बनानें...""

आ...अब...सभी मिलकर चलें...विश्वपटल की ओर...
🇮🇳🌏🇮🇳🌏🇮🇳🌏🇮🇳🌏🇮🇳
      आपके परिवार की
      अपनी बेटी-
        डॉ.प्रियंका"हम हैं ना"
             9450182942
         सक्रिय समूह भारत
   🌈🔥जागृत भारत🔥🌈

Post a Comment

0 Comments